Top Post Ad


इन गर्मियों के दिनों में गाड़ी में बैठना मुश्किल हो जाता है खासकर के तब जब हम तपती धूप में गाड़ी के अंदर आ के बैठे। जी हां क्या यही है आपकी परेशानी। 





इन गर्मियों के दिनों में धूप इतनी बढ़ गयी है और टेम्प्रेचर इतने इनक्रीज हो गए हैं कि टेम्प्रेचर 30 से 50 डिग्री के बीच में रहता है चाहे आप किसी भी पार्ट में रहे इंडिया के। 





ये बात सही है कि गाड़ी में जब आप बैठने जाएंगे तब टेम्प्रेचर बहुत ज्यादा हो जाता है। अब ये चीज हमारा काम है कि आपको बताये कि सही तरीका क्या है ताकि आप टेम्प्रेचर तुरंत कम कर सके। मैंने कुछ वीडियोज देखे इंटरनेट पे जो कहते हैं कि आपको ये करना चाहिए वो करना चाहिए ऐसा करना चाहिए वैसा करना चाहिए और वो सारे मुझे पसंद नहीं आए । 





मैंने वो ट्राय भी किये और उनसे इतना अच्छा रिजल्ट मुझे नहीं मिला। एक मैंने देखा “सब दरवाजे खोल लिए एसी फुल स्पीड में चलाए” उससे कुछ लगभग चार पांच डिग्री कम होता है। 





मगर जो तरीका मैं आपको बताऊंगा वो काफी इफेक्टिव है और इसमें आपको एसी चालू करने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। वो कैसे जब आप आते अपनी गाड़ी की तरफ दरवाजा खोलेंगे आप अंदर बैठने जाएंगे तब टेम्प्रेचर लगभग 70 से 80 डिग्री सेंटीग्रेट होता है। तो अब जो गरम हवा रहती है वो पूरे कैबिन में फैली हुई रहती है और इसका टेम्प्रेचर बाहर के टेम्प्रेचर से ज्यादा रहता है। तो आपको क्या करना चाहिए 





कार के केबिन को ठंडा करने का तरीका





आपको एक तरफ का विंडो खोल देना चाहिए और दूसरी तरफ का दरवाजा 5 से 10 बार कम से कम खोलना और बंद करना चाहिए।





इससे क्या होगा कि जो गरम हवा है वो बाहर धकेली जाएगी और सारी ठंडी हवा अंदर आ जाएगी। जी हम ठंडी यानि कि बाहर की हवा ज्यादा ठंडी है अंदर से तो अंदर आ जाएगी वो हवा और आपका टेम्प्रेचर कम से कम 10 से 15 डिग्री कम हो जाएगा।





 इसके बाद आप गाड़ी में बैठ सकते हैं। विंडो बंद कर दीजिए और आप मिनिमम टेम्प्रेचर पर AC भी चालू करके जा सकते हैं। 





इसके फायदे





इससे फायदा ये है कि जो दूसरे मैथड बताये गये हैं उसमें आपको एसी फुल स्पीड पर चलानी पड़ती है और आपको अपने सारे कांच दरवाजे खोलने पड़ते हैं तो जब आप इंजिन जो स्टार्ट करते और आप AC हाथोंहाथ फुल स्पीड पर चला दोगे तो इसका इफेक्ट सीधा आपके माइलेज पर होगा। इंजिन के लाइफ पे होगा और दूसरी चीजों पर भी होगा ये ज्यादा इफेक्टिव है जो मैंने आपको बताया है





 और इससे आपके न ही इंजन पर लोड बढ़ता है न ही AC पे लोड पड़ता है यानि की आपका काम और आसान हो जाता है। इस तरीके से आप टेंपरेचर कम कर सकते हैं। 


Post a Comment

Previous Post Next Post

Action Movies