Top Post Ad


रोटी और राइस हमारे हिन्दुस्तानी खाने का एक बहुत इम्पॉर्टेंट हिस्सा है। कुछ लोगों का मानना है कि डायबिटीज में राइस हमें अवॉइड करना चाहिए तो क्या वाकई में डायबिटीज में राइस को अवॉइड करने की जरूरत है या फिर इसे खाने के तरीके को बदलने की जरूरत है। 









हम जानेंगे कि डायबिटीज में आप राइस को किस तरीके से अपने खाने में इंक्लूड कर सकते हैं और इस तरीके से इसे खा सकते हैं। 





आइए जानते हैं रोटी और चावल में क्या फर्क है। अगर हम रोटी और चावल के न्यूट्रिएंट कंपोजिशन की बात करें तो रोटी और चावल में सेम मात्रा में कैलरी कार्बोहाइड्रेट प्रेजेंट होते हैं। 





वाइट राइस चावल का रिफाइंड या पॉलिश वर्जन है तो पॉलिशिंग के दौरान इसे काफी मात्रा में प्रोटीन और फाइबर वेस्ट हो जाता है जिसके कारण कम मात्रा में चावल खाने के बाद न तो पेट भरता है और खाने के बाद शुगर भी काफी मात्रा में बढ़ती है। इसका मतलब ये नहीं है कि आप चावल नहीं खा सकते। 





अगर आप अपने खाने में चावल खाना चाहते हैं तो आप एक रोटी अपनी थाली से कम करके उसकी जगह आधी कटोरी पका हुआ चावल ले सकते हैं। ये भी ध्यान रहे कि चावल खाते समय अपनी सब्जियों और प्रोटीन की क्वॉन्टिटी पर बहुत ध्यान दें। थाली को आधा सब्जियों से जरूर भरें। साथ में दाल और दही बहुत अच्छी क्वॉन्टिटी मिले और राइस की क्वॉन्टिटी को लिमिट करें। 





आप इसे काफी लोगों ने सुना होगा कि ब्राउन राइस डायबिटीज के लिए ज्यादा बेटर हैं तो आप चिली में ब्राउन राइस और वाइट राइस में फर्क क्या है। ब्राउन राइस और वाइट राइस का कैलरी और कार्बोहाइड्रेट कंटेंट मार्जिनल सेम होता है। ब्राउन राइस में चावल के Outer covering & germ layer intact होते हैं जो कि प्रोसेसिंग के दौरान वाइट राइस से निकल जाती हैं। इस कारण ब्राउन राइस न्यूट्रिशन भी ज्यादा रिच होते हैं और इसमें फाइबर भी ज्यादा होता है जोकि वाइट राइस में नहीं होता। 





आइए जानते हैं राइस को हम अपने खाने में कितनी क्वॉन्टिटी में यूज कर सकते हैं। अगर आप लंच में दो रोटी खाते हैं पर आज आप राइस खाना चाहते हैं तो अगर आप ब्राउन राइस खाएं 









तो आप अपने खाने से एक रोटी को हटाए और उसकी जगह पर ¾ cup राइस ऐड कर सकते हैं





अगर आपको ब्राउन राइस पसंद नहीं है और आप वाइट राइस खाना चाहते हैं 









तो आप एक रोटी के साथ आधी कटोरी पका हुआ वाइट राइस ले सकते हैं। 





तो रोटी और ब्राउन राइस ज्यादा बेटर और फाइबर रिच होने के कारण शुगर को उतना ज्यादा नहीं बढ़ाते इसका ये मतलब नहीं है कि आप वाइट राइस नहीं खा सकते। आप वाइट राइस खा सकते हैं बस उसके पोषण पर ध्यान दें और बाइट राइस खाते समय राइट क्वॉन्टिटी और वेजिटेबल्स और प्रोटीन्स को अपने खाने में जरूर शामिल करें। 


Post a Comment

أحدث أقدم

Action Movies